-रश्मिणी कोपरकर “INSTC बहुआयामी परिवहन मार्गिका है, जिसमें रेल, समुद्र, सड़क, नदी एवं हवाई मार्ग सभी शामिल हैं। लिहाजा, मूल समझौते के अनुसार, भारत को वस्तुओं के परिवहन के लिए…

-विनय जोशी “ईरान के सस्तान-बलुचिस्तान प्रांत में चाबहार बंदरगाह की पूरे तामझाम के साथ अधिस्थापना एक ऐतिहासिक घटना है। इस बंदरगाह को भारत, ईरान एवं अफगानिस्तान के सहयोग से विकसित…

अमिता आपटे “ईरान के सस्तान-बलुचिस्तान प्रांत में स्थित चाबहार बंदरगाह की पूरे तामझाम के साथ अधिस्थापना एक ऐतिहासिक घटना है। इस बंदरगाह को भारत, ईरान एवं अफगानिस्तान के सहयोग से…

-अनूप अग्रवाल, (प्रबंध निदेशक, इंडियन रेल पोर्ट कार्पोरेशन लि.) “ईरान का मुख्य लक्ष्य चाबहार को बंदर इमाम और अस्सालुयेव के बीच तीसरा बड़ा पेट्रो-केमिकल हब बनाना है। ईरानी सरकार ने…

-अमिता आपटे “ईरान के सस्तान-बलुचिस्तान प्रांत में स्थित चाबहार बंदरगाह की पूरे तामझाम के साथ अधिस्थापना एक ऐतिहासिक घटना है। इस बंदरगाह को भारत, ईरान एवं अफगानिस्तान के सहयोग से…

‘‘AAGC (Africa Asia Growth Corridor अर्थात एशिया-अफ्रीका विकास मार्गिका) प्राचीन समुद्री मार्ग की पुनर्खोज और अफ्रीकी महाद्वीप को भारत तथा दक्षिण एशिया एवं दक्षिण पूर्व एशिया को जोडने वाले नए…

-अरविंद वी. गोखले दक्षिण चीन सागर में बढते चीनी खतरे का मुकाबला करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्यापक रणनीति अपनाई है। पिछले चार वर्षों में उन्होंने दक्षिण पूर्व…

-डॉ.विनय सहस्रबुद्धे, (सांसद एवं अध्यक्ष भारतीय सांस्कृतिक सम्बंध परिषद) देशों में मैत्री इसलिए नहीं होती कि उनकी सीमाएँ एक-दूसरे से सटी हैं। केवल नक्शे से नक्शा जोड़ याने महज भौगोलिक…

error: Content is protected !!